प्रो. सांवरलाल जाट का अंतिम संस्कार मुख्यमंत्री ने प्रो. जाट को दी अंतिम विदाई

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे, केन्द्र व राज्य के कई मंत्रियों तथा हजारों लोगों ने गुरूवार को नम आंखों से पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं राज्य किसान आयोग के अध्यक्ष प्रो. सांवरलाल जाट को अंतिम विदाई दी। प्रो. जाट के पैतृृक गांव अजमेर के गोपालपुरा में राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की गई। उनका बुधवार को नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था। श्रीमती राजे ने प्रो. जाट के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी और दु:ख की इस घड़ी में उन्हें सम्बल प्रदान करने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की। इससे पहले मुख्यमंत्री ने प्रो. जाट के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित किया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की ओर से राज्यसभा सांसद श्री भूपेन्द्र यादव ने पुष्पचक्र अर्पित किया।
किसान नेता के रूप में विख्यात रहे प्रो. जाट का पार्थिव शरीर गुरूवार को जयपुर से उनके पैतृक गांव गोपालपुरा लाया गया था। इस बीच रास्ते में दर्जनों स्थानों पर जन समूह ने अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन कर उन्हें विदाई दी। गोपालपुरा में उनके निवास पर धार्मिक रीति रिवाज के बाद पार्थिव शरीर को गांव में ही श्मशान स्थल पर लाया गया। जहां हजारों लोगों ने सांवरलाल अमर रहे,  जब तक सूरज चांद रहेगा, सांवरलाल तेरा नाम रहेगा, अजमेर का एक ही लाल सांवरलाल-सांवरलाल जैसे नारों के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रो. जाट के पार्थिव शरीर को उनके पुत्र कैलाश और रामस्वरूप सहित अन्य परिजनों ने मुखाग्नि दी। मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने गोपालपुरा पहुंचकर प्रो. जाट की धर्मपत्नी श्रीमती नर्बदा देवी से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी।