91780 बालिकाओं को गार्गी पुरस्कार

राज्य सरकार द्वारा इस बार 91 हजार 780 बालिकाओं को 1 फरवरी 2017 (बसंत पंचमी) पर जिला स्तर एवं पंचायत समिति स्तर पर आयोजित किये जाने वाले समारोहो में गार्गी पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। गत दो वर्षों की तुलना में इस बार दुगनी से भी अधिक संख्या में बालिकाओं को गार्गी पुरस्कार मिलेगा।   शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने बताया कि पिछले दो वर्षों में गार्गी पुरस्कार से दुगनी से भी ज्यादा बालिकाओं ने 75 प्रतिशत एवं अधिक अंक प्राप्त कर अपने आप में एक रिकॉर्ड बनाया है। उन्होंने बताया कि यह इस बात का प्रमाण है कि बालिका शिक्षा के अंतंर्गत प्रदेश में सभी स्तरों पर गुणवत्ता में वृद्धि हुई है। प्रो. देवनानी ने बताया कि इस बार राज्य भर में गार्गी पुरस्कार से पिछले वर्ष की तुलना में 22 हजार 902 अधिक बालिकाओं ने गार्गी पुरस्कार के लिए योग्यता अर्जित की है।
उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा इस बार 91 हजार 780 बालिकाओं को 34.35 करोड रुपये की राशि का पुरस्कार जिला स्तर एवं पंचायत समिति स्तर पर आयोजित समारोहो में प्रदान किये जायेगे। शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि गार्गी पुरस्कार के अन्तर्गत जिन बालिकाओं ने माध्यमिक, प्रवेशिका, उच्च माध्यमिक एवं वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा में 75 प्रतिशत व इससे अधिक अंक प्राप्त किये है, उन्हें राशि एवं प्रमाण-पत्रों का वितरण जिला शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से बंसत पंचमी पर किया जायेगा। उन्होने बताया कि  सतर्् 2015-16 से यह समारोह पहली बार पंचायत समिति स्तर पर आयोजित करने का निर्णय लिया गया था। उल्लेखनीय है कि गार्गी पुरस्कार के अन्तर्गत वर्ष 2015 -16 में 68 हजार 878  बालिकाओं को 26.52 करोड रुपये की राशि का वितरण किया गया था। गार्गी पुरस्कार के अन्तर्गत बालिका शिक्षा को बढ़ावा देते हुए उन्हें पुरस्कार राशि एवं प्रमाण-पत्र प्रदान कर प्रोत्साहित किया जाता है।