रीट परीक्षा 2016 के निरस्त प्रश्नों की एवज में नियमानुसार बोनस अंक दिए जाएंगे - शिक्षा राज्य मंत्री

जयपुर, 28 मार्च। शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने सोमवार को विधानसभा में आश्वस्त किया कि रीट परीक्षा 2016 में अंतिम रूप से निरस्त होने वाले प्रश्नों की एवज में अभ्यर्थियों को वर्ष 2011-12 के नियमों के अनुरूप ही बोनस अंक दिये जायेंगे। प्रो. देवनानी ने शून्यकाल में इस संबंध में विधायक श्री हमीर सिंह द्वारा लाये गये ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जवाब में बताया कि सात फरवरी, 2016 को आयोजित रीट परीक्षा दो स्तर पर आयोजित की गई थी। उन्होंने बताया कि प्रथम स्तर की परीक्षा में कुल एक लाख 47 हजार 801 एवं द्वितीय स्तर की परीक्षा में 6 लाख 66 हजार 176 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। उन्होंने बताया कि गत पांच मार्च को इस परीक्षा की उत्तर कुंजी जारी करने के बाद 19 मार्च तक आपत्तियां मांगी गई थी जिनमें पांच हजार 199 अभ्यर्थियों ने आपत्तियां दर्ज कराई। उन्होंने बताया कि प्रथम स्तर की परीक्षा में 17 विषयों के 510 प्रश्न एवं द्वितीय स्तर की परीक्षा में 17 विषयों के 570 प्रश्नों सहित कुल 1080 प्रश्न थे इन प्रश्नों में से प्रत्येक स्तर के लिए अभ्यर्थियों को 150 प्रश्न हल करने थे। उन्होंने आश्वस्त किया कि 19 मार्च 2016 को इस संबंध में आयोजित बैठक में निर्णय लिया गया कि भर्ती परीक्षा में अंतिम रूप से निरस्त होने वाले प्रश्नों के लिए अभ्यर्थियों को टेट परीक्षा के लिए 2011-12 में इस तरह के प्रश्नों के लिए बनाये गये नियमों  के अनुरूप बोनस अंक दिये जायेंगे तथा किसी भी अभ्यर्थियों के साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होगा।