बीकानेर में मरूधरा बायोलोजिकल पार्क का शिलान्यास

वन एवं पर्यावरण मंत्राी राजकुमार रिणवा ने बीकानेर से 11 किलोमीटर दूर बीछवाल क्षेत्रा में मरूधरा बायोलोजिकल पार्क की आधार शिला रखी और इस पार्क को इको ट्यूरिजम के लिए माईल स्टोन बताया। रिणवा ने कहा कि करीब 445 हैक्टेयर क्षेत्रा में 36 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले मरूधरा बायोजिकल पार्क के अस्तित्व में आने के बाद बीकानेर में पर्यटकों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि यहां पर विश्व के सर्व श्रेष्ठ श्रेणी का जू (चिडिय़ाघर) बनाने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सेन्ट्रल जू ऑथिरिटी ऑफ इण्डिया (सीजेडएआई) के मापदण्डों के अनरूप यह पार्क बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2015-16 के बजट में पार्क के लिए 25 करोड़ रूपये की घोषणा हुई है और जरूरत के मुताबिक और धन राशि उपलब्ध कराई जायेगी। 
उन्होंने कहा कि बीकानेर के पुराने जन्तुआलय के शेष जन्तुओं को स्थानान्तरित करने के लिए ही मरूधरा बायोलोजिकल पार्क का निर्माण करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में जहां जन्तुआलय बंद हुए है,वहां बायोलोजिकल पार्क बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। मरूधरा बायोलोजिकल पार्क में होगी यह सुविधा-इस पार्क के प्रथम चरण में 50 हैक्टर क्षेत्रा में अन्तरराष्ट्रीय स्तर के आधुनिक चिडिय़ाघर का निर्माण होगा। दूसरे चरण में वन खण्ड के शेष क्षेत्रा में डेजर्ट सफारी विकसित की जायेगी। लुप्त हो रहे मरूस्थलीय वन्यजीवों का प्रजनन एवं उनका संरक्षण का कार्य प्रारंभ किया जायेगा।