राजस्थान बनेगा स्टार्टअप कम्पनियों का सबसे बड़ा हब

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राजस्थान स्टार्टअप फेस्ट-2015 के शुभारम्भ के अवसर पर सीतापुरा औद्योगिक क्षेत्र में स्थित जयपुर एग्जीबिशन एण्ड कन्वेंशन सेन्टर में राजस्थान स्टार्टअप पॉलिसी 2015 लान्च की। राजस्थान यह पॉलिसी लान्च करने वाला उत्तर भारत का पहला राज्य है। श्रीमती राजे ने दो दिवसीय राजस्थान स्टार्टअप फेस्ट के उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि वह दिन दूर नहीं जब निवेश के लिए बन रहे अनुकूल माहौल की बदौलत राजस्थान स्टार्टअप कम्पनियों के लिए सबसे बड़े हब के रूप में उभरेगा। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप रिवोल्यूशन की शुरूआत भले ही बैंगलूरु से हुई हो लेकिन राजस्थान में नवोदित उद्यमियों के लिए अपार सम्भावनाएं मौजूद हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थानियों ने अपने व्यावसायिक कौशल की दुनिया में धाक जमाई है। अब समय आ गया है कि वे यहां के नवोदित उद्यमियों का मार्गदर्शन कर प्रदेश को नई ऊंचाइयां प्रदान करने में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि सरकार, निवेशक और स्टार्टअप उद्यमी साथ मिलकर लगन एवं ऊर्जा से काम करेंगे तो राजस्थान को विश्व में एक नई पहचान मिलेगी। श्रीमती राजे ने एप्पल कम्पनी के संस्थापक स्टीव जाब्स के उद्धरण का हवाला देते हुए कहा कि आने वाला समय उन लोगों का ही है जो लीक से अलग हटकर सोचते हैं क्योंकि जो अलग सोचते हैं वे ही दुनिया को बदलने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने कहा कि बीते दो दशक में इन्टरनेट और मोबाइल तकनीक के कारण तेजी से बदलाव आये हैं। आज व्यवसाय को लेकर लोगों की धारणा बदल रही है। स्टार्टअप कम्पनियां रिटेल सेवाओं तक आम लोगों की पहुंच आसान बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यातायात, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, पेयजल, ऊर्जा एवं खान-पान के क्षेत्र में स्टार्टअप कम्पनियों ने नवाचार के साथ नये आयाम स्थापित किये हैं जो आने वाले समय में और आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि जयपुर के कलवाड़ा गांव निवासी आठवी उत्तीर्ण ओम सैनी ने जीरो वेस्ट आर ओ प्लांट इजाद किया है जो क्षेत्र में लोकप्रिय हो गया। जो युवा उद्यमियों के लिए प्रेरणादायी है।
आईआईएम अहमदाबाद के सीआईआईई के सीईओ श्री कुणाल उपाध्याय ने राजस्थान की स्टार्टअप पालिसी को देश में सर्वश्रेष्ठ बताते हुए प्रदेश की तुलना इजराइल से की और कहा कि प्रदेश के स्टार्टअप हब के रूप में उभरने की प्रबल सम्भावनाएं हैं। मुख्य सचिव श्री सी.एस.राजन ने विश्वास व्यक्त किया कि स्टार्टअप पालिसी प्रदेश के नवोदित उद्यमियों को नई दिशा प्रदान करेगी। माइक्रोमेक्स के एमडी श्री राजेश अग्रवाल, एक्यूमेन इन्वेस्टर फण्ड के श्री नागराज प्रकाशम एवं स्टार्टअप ओएसिस के सीईओ श्री चिंतन बख्शी ने भी युवा उद्यमियों को सम्बोधित किया। प्रमुख शासन सचिव उद्योग श्रीमती वीनू गुप्ता ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सांसद श्री रामचरण बोहरा सहित प्रदेश के प्रमुख उद्यमी मौजूद थे। इससे पहले मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने समारोह स्थल पर विभिन्न स्टार्टअप कम्पनियों की ओर से लगाई गई स्टाल्स का निरीक्षण किया तथा उनके द्वारा प्रदत्त की जा रही सेवाओं के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की।