राजस्थान में 13 दिसम्बर से लागू होगी स्वास्थ्य बीमा योजना

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की पहल पर प्रदेशवासियों को गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रस्तावित महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना सम्पूर्ण राज्य में आगामी 13 दिसम्बर से शुरू होगी। इसके लिए पूर्वाभ्यास 26 अक्टूबर से शुरू होगा। श्रीमती राजे ने योजना की तैयारियों की समीक्षा के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में एक उच्च स्तरीय बैठक में बताया कि स्वास्थ्य बीमा योजना के पात्र लोगों की पहचान के लिए भामाशाह कार्ड, आधार कार्ड या राशन कार्ड को आवश्यक बनाया जायेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य बीमा योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये ताकि अधिक से अधिक लोग इससे लाभान्वित हो सकें। बैठक में बताया गया कि योजना के तहत प्रदेश के समस्त भामाशाह कार्डधारी, प्रदेश के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में आने वाले परिवार एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में आने वाले परिवार लाभान्वित होंगे। योजना के लाभ राज्य के समस्त मेडिकल काॅलेज अस्पतालों, जिला अस्पतालों, सेटेलाइट अस्पतालों, सब डिविजनल अस्पतालों तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध होंगे। प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष सामान्य बीमारियों के लिए 30 हजार रुपये का बीमा व चिन्हित गंभीर बीमारियों हेतु 3 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। प्रतिवर्ष लगभग 400 करोड़ रूपये व्यय कर एक करोड़ परिवारों को 3 लाख करोड़ रूपये का बीमा कवर उपलब्ध कराया जायेगा। सामान्य बीमारियों के 1 हजार 45 पैकेज व क्रिटिकल बीमारियों के 500 पैकेज तैयार करने के साथ ही राजकीय अस्पतालों के लिए आरक्षित 173 पैकेज निर्धारित किये गये हैं।