फिर बनेगी राजस्थान में भाजपा की ही सरकार – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा है कि साढे़ तीन साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा ही सरकार बनायेगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने डेढ़ साल में चुनौतियों के बावजूद जनता की भलाई के लिये जो काम किए हैं वह प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित हों रहे है। श्रीमती राजे ईपी में आयोजित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की पिछली सरकार से उन्हें विरासत में आर्थिक संकटों से जूझता राजस्थान मिला। जिसे पटरी पर लाना एक बड़ी चुनौती थी। लेकिन उनकी सरकार ने पहले दिन से ही ईमानदारी के साथ कड़ी मेहनत की तो अब प्रदेश में विकास रफ्तार पकड़ने लगा है। उन्होंने रिसर्जेंट राजस्थान, भामाशाह योजना, फाॅर वाटर कन्सप्ट, ई-धरती योजना, श्रम कानूनों में सुधार, एलडीएमएस प्रोजेक्ट, सौर ऊर्जा, आरोग्य राजस्थान, रिवर अथाॅरिटी बेसिन, स्किल डवलपमेंट, रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा, सड़क के क्षेत्रों में हुए कार्याें को भी सरकार के महत्वपूर्ण फैसलों में बताया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट की स्थापना के लिए उनकी सरकार ने तकनीकी अनुसंधान और प्रशिक्षण के लिये जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के ख्यातिनाम इंस्टीट्यूट से एमओयू किया है वह जनता की भलाई के लिए किया है। जनता को ऐसे किसी एमओयू से फायदा होता है तो वे ऐसे एमओयू एक बार नहीं 10 बार करेंगी। श्रीमती राजे ने साफ कहा कि उन्हें इससे मतलब नहीं कि टेलीविजन और कांग्रेस पार्टी क्या कहती है। उन्हें तो प्रदेश की जनता की भलाई से मतलब है, जिसके लिए वो और उनकी सरकार दिन-रात मेहनत और इमानदारी से जुटी हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जमीन हमारी, हाॅस्पीटल हमारा उस इंस्टीट्यूट के साथ तो हमारी सरकार का एमओयू तकनीकी अनुसंधान और प्रशिक्षण के लिए हुआ है। वह हमारे चिकित्सकों तथा पैरा मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षित करेगा। इसका विरोध तो वे लोग कर रहे हैं, जिन्होंने कभी किसी गरीब के आंसू नहीं पोंछे। राजस्थान का गरीब व्यक्ति अपने जेवर, अपनी जमीन, अपनी सम्पत्ति बेचकर कैंसर का इलाज कराने मुम्बई जाता है। क्योंकि कैंसर का राजस्थान में नई तकनीक का कोई बड़ा अस्पताल नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार ने टेरेटेरी कैंसर सेंटर खोलने का निर्णय लिया है। जहां अधिकांश कैंसर रोगियों का आउटडोर में इलाज हो सकेगा। वे इलाज कराकर एक दिन में वापस जा सकेंगे।